What is RAM in Hindi

random access memory in hindi, random access memory meaning in hindi, RAM meaning in hindi, RAM in hindi

  • What is RAM in Hindi
    • Types of RAM:
      • Static RAM (SRAM)
      • Dynamic RAM (DRAM)

RAM in hindi,random access memory in hindi, random access memory meaning in hindi, RAM meaning in hindi,

Random Access Memory (RAM) in Hindi

RAM, का मतलब Random access memory है, यह एक हार्ड-वेयर डिवाइस है जो आमतौर पर कंप्यूटर के motherboard पर स्थित होता है और CPU की internal memory के रूप में कार्य करता है। जब आप कंप्यूटर को on करते हैं तो यह CPU को डेटा , प्रोग्राम और प्रोग्राम परिणाम store करने की अनुमति देता है। यह एक कंप्यूटर read and write मेमोरी है, जिसका मतलब है कि उस पर जानकारी लिखी जा सकती है और साथ ही पढ़ा भी जा सकता है।

RAM एक volatile मेमोरी है, जिसका अर्थ है कि यह डेटा या निर्देशों को permanently Store नहीं करता है। जब आप कंप्यूटर को on करते हैं, तो हार्ड डिस्क से डेटा और निर्देश रैम में store होते हैं, उदाहरण के लिए, जब कंप्यूटर को Reboot किया जाता है, और जब आप एक प्रोग्राम खोलते हैं, तो ऑपरेटिंग सिस्टम (OS), और प्रोग्राम को रैम में लोड किया जाता है, आम तौर पर एक HDD या SDD से। CPU इस डेटा का उपयोग आवश्यक कार्यों को करने के लिए करता है। जैसे ही आप कंप्यूटर बंद करते हैं, RAM डेटा खो देता है। इसलिए, जब तक कंप्यूटर चालू होता है तब तक डेटा रैम में रहता है। RAM में डेटा लोड करने का लाभ यह है कि रैम से डेटा पढ़ना हार्ड ड्राइव से पढ़ने की तुलना में बहुत तेज है।

सरल शब्दों में, हम कह सकते हैं कि रैम एक व्यक्ति की तरह है? Short term की स्मृति, और हार्ड ड्राइव की storage व्यक्ति की दीर्घकालिक स्मृति की तरह है। short term memory छोटी अवधि के लिए चीजों को याद करती है, जबकि long term memory लंबी अवधि के लिए याद करती है। एक कंप्यूटर भी इस तरह काम करता है; जब RAM भर जाती है, तो प्रोसेसर नए डेटा के साथ RAM में पुराने डेटा को overly करने के लिए हार्ड डिस्क पर जाता है। यह एक reusable scrach paper की तरह होता है, जिस पर आप एक पेंसिल से नोट, नंबर आदि लिख सकते हैं। यदि कागज़ पर space खत्म हो जाता हैं, तो आप वह मिटा सकते हैं जिसकी आपको अब आवश्यकता नहीं है; रैम भी इस तरह से व्यवहार करता है, जब यह भर जाता है तो रैम पर अनावश्यक डेटा हटा दिया जाता है, और इसे हार्ड डिस्क से नए डेटा के साथ बदल दिया जाता है जो current operations के लिए आवश्यक है।

RAM

RAM एक chip के रूप में आता है जो individually मदरबोर्ड पर लगाया जाता है या मदरबोर्ड से जुड़े एक छोटे बोर्ड पर कई chips के रूप में होता है। यह एक कंप्यूटर की main memory है। हार्ड डिस्क ड्राइव (HDD), silid-state ड्राइव (SSD), optical ड्राइव आदि जैसी अन्य memories की तुलना में इसे लिखना और पढ़ना अधिक तेज़ है।

कंप्यूटर का प्रदर्शन मुख्य रूप से RAM के size या storage capacity पर निर्भर करता है। यदि OS और सॉफ्टवेयर प्रोग्राम को चलाने के लिए इसमें पर्याप्त RAM नहीं है, तो यह धीमा प्रदर्शन करेगा। तो, एक कंप्यूटर में जितनी अधिक RAM होगी, उतनी ही तेजी से काम करेगा। RAM में संग्रहीत जानकारी को Randomly एक्सेस किया जाता है। इसलिए, इसका access time बहुत तेज है।

Types of RAM in Hindi:

Integrated RAM chips दो प्रकार के हो सकते हैं:

  1. Static RAM (SRAM):
  2. Dynamic RAM (DRAM):

दोनों प्रकार की रैम Volatile होती हैं, क्योंकि बिजली बंद होने पर दोनों अपनी सामग्री खो देते हैं।

1) Static RAM in Hindi:

RAM 2

Static RAM (SRAM) एक प्रकार की रैंडम एक्सेस मेमोरी होती है जो डेटा बिट्स के लिए अपनी स्थिति को बनाए रखती है या जब तक यह power प्राप्त करती है तब तक डेटा रखती है। यह मेमोरी cells से बनी होती है और इसे एक static RAM कहा जाता है क्योंकि इसे नियमित रूप से refresh करने की आवश्यकता नहीं होती है क्योंकि इसे dynamic RAM के विपरीत, leakage को रोकने के लिए power की आवश्यकता नहीं होती है। तो, यह DRAM से तेज है।

इसमें transistors की एक विशेष व्यवस्था है जो एक flip-flop, एक प्रकार का मेमोरी cell बनाती है। एक मेमोरी cell एक bit डेटा संग्रहीत करता है। अधिकांश आधुनिक SRAM memory cells छह CMOS transistors से बने होते हैं, लेकिन capacitors की कमी होती है। SRAM chips में access करने का समय 10 nanoseconds जितना कम हो सकता है। जबकि, DRAM में access का समय आमतौर पर 50 nanoseconds से ऊपर रहता है।

इसके अलावा, इसका cycle time DRAM की तुलना में बहुत कम है क्योंकि यह accesses के बीच pause नहीं होता है। SRAM के उपयोग से जुड़े इन फायदों के कारण, यह मुख्य रूप से system cache memory, और high-speed registors, और छोटे memory banks जैसे graphics card पर frame buffer के लिए उपयोग किया जाता है।

2) Dynamic RAM in Hindi:

RAM 3

Dynamic RAM (DRAM) भी ​​मेमोरी cells से बना है। यह लाखों transistors और capacitors से बना एक Integrated Circuit (IC) है जो आकार में बेहद छोटा होता है और प्रत्येक transistor को एक capacitor के साथ पंक्तिबद्ध (lined-up) किया जाता है ताकि एक बहुत ही compact मेमोरी cell बनाया जा सके ताकि वो लाखों की मात्रा में एक सिंगल मेमोरी chip पर फिट हो सकें। तो, DRAM की मेमोरी cell में एक transistor और एक capacitor होता है और प्रत्येक cell एक integrated circuit के भीतर अपने capacitor में एक सिंगल bit डेटा को represent या store करता है।

Capacitor इस सूचना या डेटा को या तो 0 या 1 के रूप में रखता है। transistor, जो सेल में भी मौजूद होता है एक switch के रूप में कार्य करता है जो मेमोरी chip पर electric circuit को अनुमति देता है capacitor को पढ़ने और इसकी state बदलने की।

Capacitor में चार्ज बनाए रखने के लिए नियमित अंतराल के बाद capacitor को refresh करने की आवश्यकता होती है। यही कारण है कि इसे dynamic रैम कहा जाता है क्योंकि इसके डेटा को बनाए रखने के लिए इसे लगातार रिफ्रेश करने की आवश्यकता होती है नही तो यह भूल जाता है कि इसने क्या data पकड़ रखा है। यह मेमोरी को रिफ्रेश सर्किट पर रखकर प्राप्त किया जाता है जो डेटा को प्रति सेकंड कई सौ बार फिर से लिखता है। DRAM में access का समय लगभग 60 नैनोसेकंड है।

Leave a Reply