Data Structure in Hindi – Doubly Linked List

  • Doubly Linked List in Hindi, doubly linked list in Data structure in hindi
    • Memory Representation of a doubly linked list in hindi,
    • Operations on doubly linked list in hindi,

types of linked list in hindi, operation on linked list in data structure in hindi, operation on linked list in hindi, doubly circular linked list in hindi, singly linked list, advantage of linked list in hindi, difference between singly and doubly linked list in hindi, difference between array and linked list in hindi,

Doubly Linked List in Hindi

Doubly Linked list एक जटिल (complex) प्रकार की Linked list है जिसमें नोड में पिछले के साथ-साथ sequence में अगला नोड का भी pointer होता है। इसलिए, एक doubly linked list में, एक node में तीन भाग होते हैं: Node data, sequence में अगले node के लिए pointer, पिछले नोड के लिए pointer.

Doubly linked list

एक doubly linked list जिसमें उनके डेटा भाग में 1 से 3 तक की संख्या वाले तीन nodes हैं।

Doubly linked list

C में, doubly linked list में एक नोड की संरचना इस प्रकार दी जा सकती है:

  1. struct node   
  2. {  
  3.     struct node *prev;   
  4.     int data;  
  5.     struct node *next;   
  6. }   

एक Singly linked list में, हम केवल एक ही दिशा में आगे बढ़ सकते हैं, क्योंकि प्रत्येक नोड में अगले नोड का address होता है और इसके पिछले nodes का कोई रिकॉर्ड नहीं होता है। हालाँकि,doubly linked list, single linked list की इस सीमा को पार कर जाती है। इस fact के कारण कि, list के प्रत्येक नोड में इसके पिछले नोड का address होता है, हम प्रत्येक node के पिछले भाग के अंदर संग्रहीत पिछले address का उपयोग करके पिछले नोड के बारे में सभी details पा सकते हैं।

Memory Representation of a doubly linked list in hindi

Doubly linked list का मेमोरी representation निम्नलिखित image में दिखाया गया है। आम तौर पर, doubly linked list हर node के लिए अधिक स्थान की खपत करती है और इसलिए, insertion और deletion जैसे अधिक expansive basic operations का कारण बनती है। हालाँकि, हम list के elements में आसानी से हेरफेर कर सकते हैं क्योंकि list दोनों दिशाओं (आगे और पीछे) में pointers बनाए रखती है।

निम्न image में, list के पहला elements है यानी की 13 जो कि address 1 पर संग्रहित है. Head pointer, starting adress की तरफ point करता है चूंकि यह list में जोड़ा जा रहा पहला element है इसलिए सूची में पिछला पता null होगा। सूची का अगला नोड adress 4 पर रहता है इसलिए first नोड के pointer में 4 होगा।

हम सूची को इस तरह से traverse कर सकते हैं जब तक कि हमें इसके अगले भाग में null या -1 वाला कोई नोड नहीं मिल जाता है।

Doubly linked list

Operations on doubly linked list in hindi

Node Creation

  1. struct node   
  2. {  
  3.     struct node *prev;  
  4.     int data;  
  5.     struct node *next;  
  6. };  
  7. struct node *head;  

 

Doubly Linked List (in Hindi ) के बारे में शेष सभी operations निम्न तालिका में वर्णित हैं।

SN Operation Description
1 Insertion at beginning शुरुआत में linked list में नोड जोड़ना।
2 Insertion at end नोड को linked list में अंत में जोड़ना।
3 Insertion after specified node Specific node के बाद नोड को linked list में जोड़ना।
4 Deletion at beginning list की शुरुआत से नोड को हटाना
5 Deletion at the end list के end से नोड को हटाना।
6 Deletion of the node having given data दिए गए डेटा वाले node के ठीक बाद वाले node को हटाना है।
7 Searching खोजे जाने वाले आइटम के साथ प्रत्येक node data की तुलना करना और list में आइटम के स्थान को वापस करना अगर आइटम वापस मिला तो अथवा null.
8 traversing searching, sorting, display, आदि जैसे कुछ विशिष्ट ऑपरेशन करने के लिए कम से कम एक बार list के प्रत्येक नोड पर जाना।

Leave a Reply

DMCA.com Protection Status