DBMS In hindi – Three schema Architecture

Database management system Three schema Architecture in hindi, three schema architecture kya hota hai, dbms three schema architecture in hindi,

  • DBMS Three schema Architecture in hindi,
    • Internal Level in hindi,
    • Conceptual Level in hindi,
    • External Level in hindi,
dbms three schema architecture in hindi

Three schema Architecture in Hindi

  • Three schema Architecture को ANSI / SPARC architecture या three-level architecture भी कहा जाता है। 
  • यह framework एक specific database system की structure का वर्णन (describe) करने के लिए उपयोग किया जाता है। 
  • three schema architecture का उपयोग user applications और physical database को अलग करने के लिए भी किया जाता है। 
  • Three schema architecture में तीन levels हैं। यह database को तीन अलग-अलग श्रेणियों (categories)  में तोड़ देता है।

The three-schema architecture is as follows:

dbms three schema architecture in hindi

In the above diagram:

  • यह DBMS architecture को दिखाता है। 
  • Mapping का उपयोग architecture के विभिन्न database levels के बीच request और response को बदलने के लिए किया जाता है।
  • Mapping छोटे DBMS के लिए अच्छा नहीं है क्योंकि इसमें अधिक समय लगता है। 
  • External / conceptual mapping, यह संपर्क को external level से संकल्पनात्मक (conceptual) schema में बदलने के लिए आवश्यक है।
  • conceptual / internal mapping, DBMS request को conceptual से internal level में बदलता है।

1. Internal Level

  • इस level में एक internal schema होता है जो database के physical storage structure का वर्णन (describe) करता है। 
  • Internal schema को physical schema के रूप में भी जाना जाता है। 
  • यह physical data model का उपयोग करता है। यह Data को block में कैसे संग्रहीत किया जाएगा को परिभाषित करने के लिए उपयोग किया जाता है। 
  • Physical level का उपयोग complex low level data structures का विस्तार में वर्णन करने के लिए उपयोग किया जाता है।

2. Conceptual Level

  • Conceptual schema conceptual level पर एक database के डिजाइन का वर्णन करता है। conceptual level को logical level के रूप में भी जाना जाता है।
  • यह schema पूरे database की संरचना (structure) का वर्णन करता है।
  • Conceptual level बताता है कि database में क्या Data store किया जायेगा है और यह भी बताता है कि उन data के बीच क्या संबंध हैं। 
  • Conceptual level में, internal details जैसे data implementation का structure छुपा होता है।
  • Programmers और database administrators इस तरह के level पर काम कर रहे होते हैं। 

3. External Level

  • External level पर, एक database में कई schema होते हैं जिन्हें कभी-कभी subschema भी कहा जाता है। subschema का उपयोग database के विभिन्न दृश्य (view) को describe करने के लिए किया जाता है। 
  • external schema को view schema के रूप में भी जाना जाता है। 
  • कोई view schema database भाग का वर्णन करता है कि एक particular user group रुचि रखता है और उस user group से remaining database को छुपाता है। 
  • View schema database system के साथ end user interaction का वर्णन करता है।

Leave a Reply