DBMS In hindi – Introduction

Database management system tutorial in hindi, Dbms introduction in hindi,

  • Introduction to DBMS (database management  system) in hindi,
  • What is Database in hindi,
  • DBMS tasks in hindi,
  • Characteristics of DBMS  (database management  system) : in Hindi,
  • Advantages of DBMS  (database management  system) in Hindi,
  • Disadvantages of DBMS (database management  system) in Hindi,

Dbms introduction in hindi

Dbms introduction in hindi

DBMS Tutorial database की बुनियादी और उन्नत अवधारणा प्रदान करता है।  हमारा DBMS Tutorial beginners और professionals दोनों के लिए design किया गया है।

Database Management System एक Software है जो Database को प्रबंधित (Manage) करने के लिए उपयोग किया जाता है।

हमारे DBMS Tutorial में DBMS के सभी विषय शामिल हैं जैसे कि Introduction ,ER Model, Keys, Relational model, Join operation, SQL, Functional dependency,Transaction, Concurrency control, etc.

What is Database?

  • Database अंतर-संबंधित (inter-related) Data का एक संग्रह (collection) है जो Data को कुशलतापूर्वक (efficiently) प्राप्त करने, सम्मिलित (insert) करने और हटाने के लिए उपयोग किया जाता है।  इसका उपयोग Table, Schema, view और Report, आदि के रूप में Data को व्यवस्थित करने के लिए भी किया जाता है।
  •  उदाहरण के लिए: कॉलेज Database Admin, Staff, Students और Faculty आदि के बारे में Data का आयोजन करता है।
  •  Database का उपयोग करके, आप जानकारी को आसानी से प्राप्त कर सकते हैं, सम्मिलित (insert) कर सकते हैं और हटा सकते हैं।

Database Management System

  • Database management system  एक Software है, जिसका इस्तेमाल Database को Manage करने के लिए किया जाता है।  उदाहरण के लिए: MySQL, Oracle, आदि एक बहुत ही लोकप्रिय वाणिज्यिक (Commercial) Database है जिसका उपयोग विभिन्न Applications में किया जाता है ।
  • DBMS Database निर्माण, इसमें Data संग्रह करना, Data अपडेट करना, Database में एक Table बनाना और बहुत कुछ जैसे विभिन्न संचालन करने के लिए एक Interface प्रदान करता है। 
  • यह Database को सुरक्षा  प्रदान करता है। कई उपयोगकर्ताओं के मामले में, यह Data स्थिरता (Consistency) को भी बनाए रखता है।

DBMS allows users the following tasks:

Data definition: 

इसका उपयोग Database में Data के संगठन (Organization) को परिभाषित करने वाली परिभाषा के निर्माण, संशोधन और हटाने के लिए किया जाता है।

Data Update: 

इसका उपयोग Database में वास्तविक Data के सम्मिलन, संशोधन और विलोपन के लिए किया जाता है। 

Data Retrieval:

 इसका उपयोग Database से Data प्राप्त करने के लिए किया जाता है, जिसका उपयोग विभिन्न purposes के लिए Applications द्वारा किया जा सकता है। 

User Administration: 

यह  उपयोगकर्ताओं को पंजीकृत (Register) करने और निगरानी करने, Data Integrity बनाए रखने, Data सुरक्षा को लागू करने, Concurrency control से निपटने, Performance की निगरानी करने और Unexpected failure से corrupted जानकारी को पुनर्प्राप्त (Recover) करने के लिए उपयोग किया जाता है।

Characteristics of DBMS:

  • यह जानकारी Store करने और Manage करने के लिए एक Server पर स्थापित Digital Repository का उपयोग करता है।
  • यह Data को Manipulate करने वाली प्रक्रिया का एक clear और Logical दृष्टिकोण (View)  प्रदान कर सकता है। 
  • DBMS में स्वचालित (automatic) backup और पुनर्प्राप्ति (Recovery) प्रक्रिया शामिल हैं। 
  • इसमें ACID गुण (properties) होते हैं जो विफलता (failure) के मामले में एक Healthy state में Data बनाए रखते हैं।  
  • यह Data के बीच जटिल (complex) संबंध (relationship) को कम कर सकता है। 
  • इसका उपयोग Data के Manipulateion और processing का समर्थन (support) करने के लिए किया जाता है। 
  • इसका उपयोग Data की सुरक्षा (security) प्रदान करने के लिए किया जाता है। 
  • यह उपयोगकर्ता की आवश्यकताओं के अनुसार Database को विभिन्न दृष्टिकोणों (viewpoints) से देख सकता है।

Advantages of DBMS

Controls database redundancy:

यह Data अतिरेक (redundancy) को नियंत्रित कर सकता है क्योंकि यह सभी Data को एक single Database फ़ाइल में store करता है और उस Data को Database में रखा जाता है।

Data Sharing:

DBMS में, एक organization के autorized उपयोगकर्ता कई उपयोगकर्ताओं के बीच Data साझा कर सकते हैं।  

Easily Maintenance:

यह Database सिस्टम के centralized nature के कारण आसानी से बनाए रखा जा सकता है। 

Reduce Time

यह development के समय और maintenance की आवश्यकता को कम करता है। 

Backup: 

यह backup और recovery subsystems प्रदान करता है जो hardware और software failure और restore से Data का automatic backup बनाता है।

Multiple user interface: 

यह Graphical user interface , Application program interface जैसे विभिन्न प्रकार के user interface प्रदान करता है

Disadvantages of DBMS

Hardware और Software की लागत: 

DBMS software को चलाने के लिए  एक high speed Data Processer और बड़े memory size की आवश्यकता होती है। 

Size:

यह उन्हें efficiently चलाने के लिए Disk और मेमोरी का एक बड़ा स्थान रखता है। 

Complexity: 

Database सिस्टम अतिरिक्त complexity और आवश्यकताओं को बनाता है।

Higher impact of failure:

विफलता (failure) Database पर अत्यधिक प्रभाव डालती है क्योंकि अधिकांश संगठन में, सभी Data एक ही Database में संग्रहीत होते हैं और यदि Database बिजली की विफलता या Database Corruption के कारण क्षतिग्रस्त हो जाता है तो Data हमेशा के लिए खो सकता है।

Leave a Reply

DMCA.com Protection Status